You'll also like

मेरे अन्य ब्लॉग

बुधवार, 23 फ़रवरी 2011

कैलाश मानसरोवर यात्रा हुई आठ हजार रुपये महंगी

यात्रा मार्ग और अवधि बढ़ने के बाद विदेश मंत्रालय ने बढ़ाया केएमवीएन का खर्चा
नवीन जोशी, नैनीताल। कैलाश मानसरोवर की यात्रा के लिए इस वर्ष भक्तों को प्रत्यक्ष रूप से आठ हजार रुपये तक अधिक खर्च करने पड़ेंगे। विदेश मंत्रालय ने केएमवीएन के प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए यात्रा किराया ढाई हजार रुपये प्रति श्रद्धालु बढ़ा दिया है, जबकि बीते एक वर्ष में भारतीय रुपये के डॉलर के मुकाबले कमजोर होने से यात्रियों को चीन को करीब पांच से साढ़े पांच हजार रुपये अधिक देने होंगे। 
उल्लेखनीय है कि भारत में कैलाश मानसरोवर का यात्रा का जिम्मा संभालने वाले कुमाऊं मंडल विकास निगम (केएमवीएन) ने विदेश मंत्रालय से यात्रा किराया बढ़ाने के लिए आवेदन किया था। निगम के मंडलीय प्रबंधक पर्यटन डीके शर्मा ने बताया कि विदेश मंत्रालय ने यात्रा किराया गत वर्ष के 24,500 से बढ़ाकर 27 हजार रुपये करने को स्वीकृति दे दी है। निगम की परेशानी यह थी कि गत वर्ष तक के यात्रा मार्ग मांगती व गाला के बीच बीआरओ द्वारा सड़क बनाई जा रही है। इस सड़क में भूस्खलन हो रहा है। इसलिए बीआरओ ने इस मार्ग पर श्रद्धालुओं की सुरक्षा के मद्देनजर मांगती से गाला के बीच के मार्ग पर पैदल यात्रा कराने से मना कर दिया। इस कारण निगम को इस वर्ष यात्रा पूर्व के मार्ग से करानी पड़ रही है। इस कड़ी में सिरख में एक नया शिविर स्थापित करना पड़ रहा है, जिससे आने-जाने में पैदल यात्रा 36 किमी और यात्रा अवधि दो दिन बढ़ रही है। हां, इस कारण यात्रियों को नारायण स्वामी आश्रम देखने का अवसर मिलेगा। उल्लेखनीय है कि चीन के हिस्से में यात्रा के लिए हर यात्री को चीन सरकार को 700 डॉलर पड़ते हैं। अर्थशास्त्रियों के अनुसार बीते वर्ष में एक डॉलर की भारतीय मुद्रा में कीमत करीब सात से आठ रुपये तक बढ़ी है, इस कारण भारतीय यात्रियों को चीन में यात्रा सुविधाओं के लिए करीब पांच से साढ़े पांच हजार रुपये तक अतिक्ति अदा करने होंगे। श्री शर्मा ने बताया कि निगम ने इस बार यात्रा मार्ग के सभी छह शिविरों में दो-दो कमरे अतिरिक्त होंगे। इससे हर शिविर में 16 यानी कुल 96 अतिरिक्त शैयाओं की सुविधा होगी। वैसे पूर्व में भी निगम हर यात्रा दल में 60 यात्रियों के लिए पूरी व्यवस्था रखता रहा है, इस बार अतिरिक्त कक्ष होने से खासकर महिला यात्रियों को सुविधा मिलेंगी।
आदि कैलाश यात्रा का किराया भी बढ़ा
नैनीताल। शिव के छोटे धाम कहे जाने वाले आदि कैलाश यात्रा पर महंगाई की मार पड़ी है। यह यात्रा अब करीब चार हजार रुपये महंगी होगी। अब तक इस यात्रा का किराया 17,600 रुपये था, जबकि इस वर्ष से यात्रियों को 21 हजार रुपये प्रति यात्री के साथ ही 2.58 फीसद सर्विस टैक्स अलग से वहन करना होगा। इसके साथ ही निगम ने महंगाई के मद्देनजर पर्यटक आवासगृहों का किराया भी सीजन तक बढ़ने के संकेत दिये हैं।
यहाँ प्रथम पेज पर भी देख सकते हैं: 
एक टिप्पणी भेजें